जब जीना ही हैं जिन्दगी को तो क्यूँ पल-पल आँसू बहाये एक बार हँसकर गले तो लगाओ गम को ये गम आने से ही श